एमएसडीपी परियोजना

बहु-क्षेत्रीय विकास कार्यक्रम (एमएसडीपी) के तहत आईटीआई खोलना

यह कार्यक्रम अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय सरकार द्वारा शुरू किया गया है। 12वीं पंचवर्षीय योजना अवधि के दौरान अल्पसंख्यकों की सामाजिक-आर्थिक स्थितियों में सूधार और लोगों की जिंदगी की गुणवता में सुधार और असंतुलन को कम करने के लिये अल्पसंख्यक एकाग्रता क्षेत्रों में कमी लाना भारत सरकार का उ६ेश्य है। इसका उ६ेश्य अल्पसंख्यक एकाग्रता जिले (एमसीडी) में आय पैदा करने के अवसर बनाने के लिये योजनाओं के अलावा शिक्षा, कौशल विकास, स्वास्थय, स्वच्छता, पक्के आवास, सड़को पेयपल के लिये बेहतर बूनियादि ढांचा प्रदान करना है जहां पर कि अल्पसंख्यकों की जनसंख्या 20% से अधिक है या कुल जनसंख्या का अधिक।

8 सरकारी आईटीआई इस परियोजना के तहत सिरसा, फतेहाबाद, यमूनानगर जिलों में स्थापित किये जा रहे है जिसके लिये केन्द्र और राज्य सरकार 60:40 के अनूपात में व्यय का हिस्सा होगा। मशीनरी ने निर्माण और खरीद के निर्माण के लिये धन प्रदान किया जाना है, जबकि आईटीआई के काम पर अवर्ती लागत राजय सरकार द्वारा वहन की जानी है।

क्रमांक

नई आईटीआई

जिला

लागत (लगभग)

1

मसीता

सिरसा

प्रत्येक आईटीआई के लिए रू. 5.32 करोड़

 

2

बड़ा गुद्धा       

3

जीवनगर

4

जाखन डादी

फतेहबाद

5

दर्शुलकलां

6

छछरौला

यमूनानगर

7

खिजराबाद