लक्ष्य व दृष्टिकोण

विभाग का लक्ष्य युवाओं में तकनीकी कौशल को पैदा करके उनको तकनीकी व व्यावसायिक शिक्षा के द्वारा लाभकारी रोजगार के लिए सक्षम बनाना तथा उद्योग के साथ सघन मेलजोल से अर्थव्यवस्था के औपचारिक व अनौपचारिक उत्पादन को बढ़ाना है। औद्योगिकरण आधुनीकिकरण तथा व्यापार व व्यवसाय के प्रोत्साहन के लिए कुशल कामगार एक महत्वपूर्ण आवश्यकता है। मुख्य लक्ष्य निम्नलिखित के द्वारा, तीव्र व समग्र विकास हासिल करना है -

  •  व्यक्ति में रोजगार (मजदूरी /स्वयं रोजगार) व बदलती हुई तकनीक व श्रम बाजार की मांग के अनुसार कौशल को बढ़ाना।
  •  उत्पादकता में सुधार
  •  देश में प्रतिस्पर्धा को सशक्त बनाना
  •  कौशल विकास में निवेश को आकर्षित करना